बीता हुआ जीवन

यह कविता एक मरते हुए व्यक्ति के आखिरी विचार हैं, जब वो ये चिन्तन कर रहा है कि उसने जीवन में आख़िर क्या खोया और क्या पाया ।